Breaking News

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

बेकसूरों पर कार्रवाई बर्दाश्त नहीं करेगी कांग्रेस कन्हवां के पीड़ितों से मिले शम्स, कानूनी मदद देने का भरोसा दिलाया

 बेकसूरों पर कार्रवाई बर्दाश्त नहीं करेगी कांग्रेस


कन्हवां के पीड़ितों से मिले शम्स, कानूनी मदद देने का भरोसा दिलाया


लोगों से घर वापस लौटने की अपील की


सीतामढ़ी ( संवाददाता / बिहार मिरर) 



पंचायत चुनाव के वोटिंग के दौरान परिहार प्रखंड के कन्हवां में पुलिसिया बर्बरता के पीड़ितों से मिलने रविवार बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रवक्ता सह युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष मो. शम्स शाहनवाज के नेतृत्व में कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल कन्हवां गांव पहुंचा और पूरे घटनाक्रम का जायजा लिया। ग्रामीणों ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि वोटिंग के दौरान पुलिस ने पहले तो जबरन दौड़ा-दौड़ा कर आमलोगों को पीटा और फिर उल्टे मुकदमा दर्ज कर दिया। जिसमें 60 लोगों को नामजद और 200 से 500 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया गया है। बीते 29 नवंबर की रात करीब एक बजे सात-आठ गाड़ियों में भरकर पुलिस गांव में घुसी और दर्जनों बेकसूर लोगों को गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद से पूरा गांव खाली हो गया है। लोग डर से गांव छोड़ कर भाग गए हैं।


पीड़ितों को इंसाफ दिलाने का भरोसा देते हुए युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष शम्स शाहनवाज ने कहा कि बेकसूरों पर पुलिसिया कार्रवाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पीड़ित परिवारों को बिहार लीगल नेटवर्क की मदद से निःशुल्क कानूनी सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। शम्स ने ग्रामीणों से बगैर किसी डर के अपने घरों में रहने की अपील की। उन्होंने बताया कि गृह सचिव चैतन्य प्रसाद ने उन्हें आश्वासन दिया है कि बेकसूरों पर कोई कार्रवाई नहीं होगी। 


बिहार लीगल नेटवर्क के लीगल फेल्लो वरिष्ठ अधिवक्ता सेराज अहमद ने कहा कि कानून की मदद से पीड़ितों को न्याय दिलाया जाएगा। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद कुमार नील, मुश्ताक़ सरवर, जमशेद रूहुल्लाह अधिवक्ता, मो.नौशाद और मनीष तिवारी शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल पूरे घटनाक्रम पर रिपोर्ट कांग्रेस नेतृत्व के अलावा बिहार के महामहिम राज्यपाल महोदय और गृह सचिव को सौंपेगा।